Subscribe Us

BEST DUA BUEATYFUL VOICE IN THE WORLD

PLEASE AAP HAMARE YOUTUE CHANNEL KO SUBSCRIBE KAR LIJIYE IS CHANNEL PAR ISLAMIC RELATED VIDEO AUR HADITH ISLAMIC KNOWLEDGE JAISI VIDEO MILENGI

SUBSCRIBE DIN YE ISLAM CLICK HERE

ads

Wednesday, April 6, 2022

Where is Allah ? अल्लाह तआला कहाँ है?

Where is Allah ? अल्लाह तआला कहाँ है?

Where is Allah ? अल्लाह तआला कहाँ है?  




Where is Allah ? अल्लाह तआला कहाँ है?
Where is Allah ? अल्लाह तआला कहाँ है? 




हिन्दी  - अल्लाह तआला आसमान पर है | हजरत मुआविया बिन हकम सुलमी रजीअल्लाहु अन्हु ने फरमाया :मेरी नौकरानी थी जो उहुद और जुबानिया के निकट बकरियां चराया करती थी । 

English - Allah Ta'ala is in the sky. Hazrat Muawiyah bin Hakam Sulmi Raziallahu Anhu said: I had a maid who used to herd the goats near Uhud and Zubaniya.



हिन्दी - एक दिन जब मैंने निरीक्षण किया तो पाया कि एक बकरी भेड़िया उठा ले गया | इंसान होने के नाते मुझे भी वैसे ही दुख हुआ जैसे दूसरे लोगों को दुख होता है | तो मैंने उसे एक थप्पड़ मार दिया | फिर रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के पास आया | जब उन्हें बताया तो उन्हें बुरा लगा | मैंने पूछा, ऐ अल्लाह के रसूल, क्या मैं उसे आजाद कर दूं? तो आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फरमाया कि उसे मेरे पास ले आओ |

English - One day when I inspected it I found that a The goat took the wolf. me as a human being Hurt as other people hurt. so i gave him a slapped | Then Rasulullah Sallallahu Alaihi Wasallam came near. He felt bad when told them. I asked, oh Messenger of Allah, can I set him free? so you sallallahu Alaihi wasallam said to bring him to me.



हिन्दी - (अतएव मैं उस नौकरानी को लेकर आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की सेवा में हाजिर हुआ) आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने उससे पूछा : बताओ अल्लाह कहाँ है ? उसने कहा : आसमान पर है | आपने पूछा : मैं कौन हूँ? उस नौकरानी ने जवाब दिया, आप अल्लाह के रसूल है, आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फरमाया, उसे आजाद कर दो, क्योंकि वह ईमानवाली है । (मुस्लिम, अबू दाऊद)

English - (therefore I take that maid to serve you sallallahu alayhi wa sallam I appeared) You sallallahu alayhi wa sallam asked him: Tell me where is Allah? He said: It is on the sky. You Asked: Who am I? The maid replied, You are of Allah Rasool, you Sallallahu 'alaihi wa sallam said, Set her free, because she is a believer. (Muslim, Abu Dawood)




हिन्दी - उपरोक्त हदीस से निम्नलिखित बातों का पता चलता है :

English - The following points are revealed from the above hadith:



हिन्दी -१. सहाबा केराम हर मामूली बात में भी अल्लाह के रसूल सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम सके पास जाते  थे ताकि उस बारे में अल्लाह का फरमान मालूम करें |

English - 1. Sahaba Keram, the Messenger of Allah even in every trivial matter Sallallahu 'alaihi wa sallam used to go near so that about him Know the order of Allah.



हिन्दी - २. अल्लाह. तआला के आदेशों पर चलते हुए केवल अल्लाह और उसके रसूल से फैसला लेना चाहिए जैसा कि अल्लाह तआला फरमाता है:"ऐ पैगम्बर, तेरे रब की कसम उस समय तक लोग मोमिन नहीं हो सकते जब तक अपने झगड़ों का फैसला तुमसे न करवायें । फिर तुम्हारे इस फैसले पर दिल में कोई तंगी महसूस न करें | और उसके सामने सिर न झुका लें |"
                                                                (सूरह अल-निसा)
English - 2.. Allah. Following the orders of Ta'ala, only Allah and Decision should be taken from his Messenger as Allah Ta'ala Says: "O Prophet, swear by your Lord till that time people believe Can't happen until your disputes are decided by you Get it done Then there is no tightness in your heart on this decision don't feel And don't bow your head before him."
                                                                 (Surah Al-Nisa)


हिन्दी - ३. सहाबी ने नौकरानी को थप्पड़ मारा तो अल्लाह के रसूल सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने उसे बुरा समझा और इस बात का महत्व दिया |

English - 3. When Sahab slapped the maid, the Messenger of Allah sallallahu 'alaihi wa sallam considered her bad and gave importance to this.



हिन्दी - ४. केवल मोमिन गुलाम को आजाद करना चाहिए न कि काफिर को | क्योंकि अल्लाह के रसूल ने उस नौकरानी से पूछ-गछ की ताकि मालूम करें कि वह मुसलमान है या नहीं । लेकिन जब मालूम हुआ कि मुसलमान है तो आजाद करने का आदेश दिया।

English - 4. Only the believer slave should be freed and not the infidel. Because the Messenger of Allah interrogated the maid to find out whether she was a Muslim or not. But when it came to know that he was a Muslim, he ordered to be freed.



हिन्दी - ५. तौहीद (एकेश्वरवाद) के बारे में जानकारी हासिल करना जरूरी है और यह कि अल्लाह तआला आसमान पर है और उसका ज्ञान आवश्यक है।

English - 5. It is necessary to gain knowledge about Tawhid (monotheism) and that Allah Ta'ala is in the heavens and his knowledge is necessary.



हिन्दी - ६. अल्लाह तआला के बारे में पूछना कि वह कहाँ है, सुन्नत है जैसा कि रसूलुल्लाह सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने नौकरानी से पूछा ।

English - 6. Asking Allah Ta'ala where he is is Sunnah as Rasulullah Sallallahu Alaihi Wasallam asked the maidservant.



हिन्दी - ७. इस सवाल के जवाब में यह कहना चाहिए कि अल्लाह तआला आसमान पर है क्योंकि आप सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने नौकरानी के जवाब को ठीक करार दिया | इस तरह क़ुरआन करीम ने भी नौकरानी के इस जवाब का समर्थन किया है । जैसा कि आया है : “क्या तुम आसमान पर जो जात है उससे बेखौफ व खतर हो गये हो कि वह तुम्हें जमीन में धंसा दे ।"            ( सूरह अल-मुल्क )

हज़रत अब्दुल्लाह बिन अब्बास रजिअल्लाहु अन्हुमा फरमाते हैं कि वह जात अल्लाह तआला की है

English - 7. In answer to this question it should be said that Allah Ta'ala is in the sky because you sallallahu alayhi wa sallam justified the answer of the maid. In this way the Qur'an Karim has also supported this answer of the maid. As it has come: "Have you become fearful and in danger of what goes on in the sky, that it may sink you into the ground." (Surah al-Mulk )

Hazrat Abdullah bin Abbas Raziallahu Anhuma says that That caste belongs to Allah Ta'ala



हिन्दी - ८. मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की रिसालत की गवाही देने से ही ईमान सही साबित होता है।

English - 8. The faith is proved right only by giving the testimony of the Risalat of Muhammad sallallaahu 'alaihi wa sallam.



हिन्दी - ९. यह अकीदा रखना कि अल्लाह तआला आसमान पर है सच्चे ईमान की निशानी है। और यह अकीदा अपनाना प्रत्येक मुसलमान पर वाजिब है।

English - 9. To believe that Allah is in the sky is a sign of true faith. And it is obligatory on every Muslim to adopt this aqeeda.



हिन्दी - १०. इस हदीस से उस व्यक्ति की गलती का रद्द हो गया जो यह कहता है कि अल्लाह तआला व्यक्तिगत रूप में हर जगह मौजूद है और सही यह है कि वह हमारे साथ अपने इल्म से है जात से नहीं।

English - 10. This hadith negates the mistake of a person who says that Allah is personally present everywhere and that He is with us by his knowledge and not by caste.






This language is printed with google translate if you see any mistake in this language. So you follow us and contact us through comment or contact page (As Salaam Alaikum)
 
post achhi lagi to jyada se jyada share kare 
allah hafiz


No comments:

Post a Comment

Thanks For Visiting Our Website Din ye islam