Subscribe Us

BEST DUA BUEATYFUL VOICE IN THE WORLD

PLEASE AAP HAMARE YOUTUE CHANNEL KO SUBSCRIBE KAR LIJIYE IS CHANNEL PAR ISLAMIC RELATED VIDEO AUR HADITH ISLAMIC KNOWLEDGE JAISI VIDEO MILENGI

SUBSCRIBE DIN YE ISLAM CLICK HERE

ads

Sunday, October 24, 2021

MUKHTSAR NABVI NABUVAT SE PAHLE ARAB KE HALAAT मुख्तसर सिरते नबवी | नबुवत से पहले अरब के हालत

MUKHTSAR NABVI NABUVAT SE PAHLE ARAB KE HALAAT मुख्तसर सिरते नबवी | नबुवत से पहले अरब के हालत

 MUKHTSAR NABVI NABUVAT SE PAHLE ARAB KE HALAAT मुख्तसर सिरते नबवी | नबुवत से पहले अरब के हालत 


MUKHTSAR NABVI NABUVAT SE PAHLE ARAB KE HALAAT मुख्तसर सिरते नबवी | नबुवत से पहले अरब के हालत
MUKHTSAR NABVI NABUVAT SE PAHLE ARAB KE HALAAT मुख्तसर सिरते नबवी | नबुवत से पहले अरब के हालत 



MUKHTSAR NABVI NABUVAT SE PAHLE ARAB KE HALAAT मुख्तसर सिरते नबवी | नबुवत से पहले अरब के हालत 






नबुवत से पहले अरब के हालत NAbuvat se Pahle Arab Ke Halat


उस समय अरबो (Arabi) के यहा बुत परस्ती का चलन था | दिने फितरत के खिलाफ बुत परस्ती के अप्नाने कि वजाह से उस जमाने को जमानय जाहिलीयात का नाम दिया गया ! वह लोग (allah) अल्लाह को छोड कर जीन बुतो कि पूजा( PooJA) (prayer) किया करते थे !






 उनमे मशहूर लात, उज्जा, मनात और हुबुल है अलबत्ता अरबो ( Arabi) मे कुछः  लोग ऐसे भी थे जो याहुदियत, नस्रानियात या मजुसियात को अपना धर्म मानते थे और बहुत थोडी तादात ऐसे लोगो कि भी थी जो इब्राहीम अलैहीसलाम कि मिल्लत अर्थात दिने हनीफ के मानने वाले थे !






जहा तक आर्थिक जीवन कि बात है तो गाव के लोगो का आर्थिक जीवन  मुक्म्मंल तौर पर जनवरो से हासील होणे वाली दौलत पर निर्भर था जिन्हे लोग चराया करते थे और शहर मे बसने वाले लोगो का जीवन खेती बाडी और तीजारात पर निर्भर था ! 






इस्लाम के आगमन के कुछ दिनो पहले तक मक्का अरब का सबसे बडा तीजारती शहर था ! और कुछ स्थान ऐसे भी थे जैसे मदिना और ताईफ जहा निर्माण से सबंधित तहजीब भी मौजुत थी अलबत्ता सामाजिक जीवन का बुरा हाल था ! 


जुल्म व अत्याचार कत्ल  व मारकाट हर और फैला हुं था ! इनमे कमजोरो को हक से महरूम रखा जाता था , बच्छियो को जिंदा गाड दिया जाता था, अस्मते रौंदी जाती थी ! ताकतवर    लोग कमजोर का हक खा जाया करते थे !



वे लोग जितनी चाहे शादिया किया करते थे !


 बद्कारी फैली हुई थी और मामुली मामुली बातो पर कबिलो और कभी-कभी एक हि कबिले के लोगो के बीच जंगे छिड जाया करती थी ! 
इस्लाम के आने से पहले अरब कि हालत का यह एक सरसरी जायजा है !


(IBNE) ईब्ने जबिहून ( दो जबिहो का बेटा ) ( Nabi) नबी करीम सल्लल्ल्लाहू अलैही वसल्लम के बुजुर्ग अब्दुल मुत्तलिब कि अधिक औलाद (AULAD)  और मालदारी पर कुरैश गर्व किया करते थे !





(islamic content)






 अब्दुल मुत्तलिब ने नज्र मानी कि यदी  अल्लाह उन्हे दस लडके प्रदान करेंगा तो माबुदो कि समीपता हासील करने के लिये उनमे से एक लडके को जबह कर देंगे ! उन्होने जो सोचा था वही हुआ !उनके दस लडके पैदा हुए जीनमे एक नबी करीम सल्लल्ल्लाहू अलैही वसल्लम के बाप अब्दुल्लाह भी थे !

 अब्दुल मुत्तलिब ने सब नज्र पुरी करनि  चाही तो उन्होने अपने बेटे के बीच कुरवा अंदाजी ( पर्चीया डाल कर नाम निकालना ) कि तो उसमे अब्दुल्लाह का नाम आया ! उन्होने अब्दुल्लाह को जबह करना चहा तो लोगो ने इस काम से मना कर दिया ताकी बाद मे यह चीज सुन्नत(Sunnat) न बन जाये !   


To be continue Next Part 





1 comment:

  1. 1xbet korean - Legalbet.co.kr
    1xbet 1xbet korean - Sports Betting and live betting from 1xbet, licensed by a Malta company licensed by the Malta Gaming worrione Authority, in choegocasino North Korea.

    ReplyDelete

Thanks For Visiting Our Website Din ye islam