Subscribe Us

BEST DUA BUEATYFUL VOICE IN THE WORLD

PLEASE AAP HAMARE YOUTUE CHANNEL KO SUBSCRIBE KAR LIJIYE IS CHANNEL PAR ISLAMIC RELATED VIDEO AUR HADITH ISLAMIC KNOWLEDGE JAISI VIDEO MILENGI

SUBSCRIBE DIN YE ISLAM CLICK HERE

ads

Wednesday, April 29, 2020

Juma khutba In Hindi | जुमा का खुतबा हिंदी में | Din Ye Islam

Juma khutba In Hindi | जुमा का खुतबा हिंदी में | Din Ye Islam

Juma khutba In Hindi | जुमा का खुतबा हिंदी में

Juma khutba In Hindi | जुमा का खुतबा हिंदी में | Din Ye Islam
Juma khutba In Hindi | जुमा का खुतबा हिंदी में | Din Ye Islam



अस्सलाम अलैकुम राहेमुतुल्लाहि व बरकातु प्यारे इस्लामी भईयों और बहनों जुमा का खुतबा हिंदी में  मौजुदा हालात के पेशे नज़र juma khutba in hindi जुमा के मुख्तसर खुतबे है । 
हमारा ये जुमा का खुतबा हिंदी में डालने का मतलब ये है । की अभी हमारे मुल्क के हालात ठीक नही है corona virus की वजह से इस  वजह से lockdown हमारे मुल्क में लगादिया है ।



अल्लाह तबारक व तआला के फजलो करम से अंक़रीब माहे रमज़ानुल मुबारक की आमद आमद है.जो यक़ीनन बडी खैर
व बरकत और नेकियों का महीना है. जिसमें मुसलमान खूसूसी इबादतों का एहतमाम कर के नेकियों से मालामाल होते हैं. लेकिन
इस साल कोरोना वायरस corona virus पूरी इंसानियत को सख़्त आज़माइश में मुबतेला कर दिया है जिससे बचने के लिये समाजी फासले (Social Distancing) को बरक़रार रखना ज़रूरी क़रार दिया गया है. इसी लिये हुकूमत ने मुल्क भर में लॉकडाउन नाफिज़ कर रखा है.इन हालात में घरों से बाहर निकलना, एक सात मे जमा होना सख्त मना है. इस सिलसिले में हमने जुमा का खुतबा हिंदी में juma khutba in hindi 


के लिये माहे रमज़ानुल मुबारक में इबादतों की अदाएगी से पेश किया है । इस लिए की हमारे कई मुस्लिम भाई का जुमा का खुतबा नही हो रहा था । इसी लिए हमने juma khutba in hindi जुमा का खुतबा हिंदी में पेश किया है ।



पहेला जुमा खुतबा हिंदी में

First Juma Khutba In Hindi

अलहमदुलिल्लाही नहमदुहु व नसतईनुहु व नसतगफिरुहु
व नऊजुबिल्लाही मिन शुरुरी अन फुसीना व मिन सय्यीआती
आमालीना व अशहदु अल लाइलाहा इललल्लाहु वाहदहु
ला शरिकालहु व अशहदु अन्ना मुहम्मदन अबदुहु व रसुलुहु ०
अम्मा बाद।
फआऊजु बिल्लाही मिनश्शैतानीररजीम बिस्मील्लाहीर रहेमान निररहीम० कुलहुवल्लाहु अहद अल्लाहुस्समद लम यलीद वलम युलद वलम यकुल्लहु कुफुवन अहद " सदाकल्लाहुल अज़िम"




दूसरा जुमा खुतबा हिंदी में

Second Juma Khutba In Hindi

अलहमदुलिल्लाही रब्बिल  आलमीन वल आकीबतु लिलमुत्तीकीन अल्लाहुम्मा सल्ली अला मुहम्मद व आला आली मुहम्मद व बारीक व सल्लीम अल्लाहुम्मरफा अन्नल बलाआ वल वबाआ० रब्बना आतीना फिददुनिया हसनतौ व फिल आखीरती हसनतौ वकीना अज़ाबन्नार० इन्नल्लाहा या मुरु बिल अदली वल इहसानी व ईताई ज़िलकुरबा व यनहा अनिल फहशाही व मुनकरी व बगयी० यइजुकुम लअल्लकुम तज़क्करुन० वल्लाहु यालमु मा तसनऊन०





जरूरी बातें 

1. कोरोनासे बचाओ के पेशे नज़र, जिस तरह अब तक मसाजिद में अज़ान दी जा रही है और चंद लोग बा जमाअत नमाज़ अदा कर
रहे हैं, बक़या तमाम लोग अपने घरों में नमाज़ पढ़ रहे हैं, यही मामूल रमज़ानुल मुबारक में भी जारी रखें, घरों में रहते हुए रोज़ा,
तरावीह, तिलावत, ज़िक्र व तस्बीहात का एहतमाम करें.

2.रोज़ोकी पाबन्दी करें,बगैर किसीशरई उज्र के रोज़ा हरगिज़ ना छोड़ें.



3.हसबेमामोल नमाज़े जुमा, पंज वक़्ता नमाज़े,सुन्नत वनवाफिल अपने घरों पर ही अदा करें.

4. नमाज़ेतरवीह घरजे तमाम अफराद घर पर ही बा जमाअत अदा करें,मस्जिद कारुख़ ना करें,

5. नमाज़ेतरवीह के लिए भी घरों में आसपास का मजमा हरगिज़ इकटठा ना करें.
6.मसाजिद में भी सिर्फ चार पाँच अफराद ही इमाम के पीछे नमाज़ और तरावीह पढ़ें.

7. नमाज़े तरावीह में अगर घर में मुकम्मिल हाफिज़े कुरआन मौजूद हो तो मुकम्मिल कुरआन सुनने सुनाने का एहतेमाम करें, वरना जितना कुरआनसुननेसुनाने का मौक़ा हो उतनाही पढ़ें, अलबत्तामुकम्मिल तरावीह ज़रूर पढ़ें.



8. बाज़ारो में जाने से हत्तल इमकान परहेज़ करें,खास तौर पर अफतार से पेहले खरीदारी की भीड़ से बचें.

9.मस्जिद में मुक़ीम इमामया मौज्ज़नसाहब ख़तम सेहरी व अफतार का ऐलान हस्बे मामोल कर सकते हैं.

10. लॉकडाउन के दौरान किसी भी किस्म की दावत या अफतार पार्टियों से मुकम्मिल परहेज़ करें. अफतार के लिए मसाजिद में ना
जाएँ, इसके अलावा अफतार पार्टियों से भी गुरेज़ करें और इसकी रकम गुरबा व मोहताजो में तक़सीम कर दें.

11. अपनी ज़कात, सदक़ाते वाजिबा की रकूमात सिर्फ ज़रूरतमंद दीनी मदारिस और रफाही काम करने वाली तनज़ीमो और
इदारो को दें.



12.खरीद व फरोख्त के सिलसिले में हुकूमत की जानिब से आएद कर्दा पाबन्दियों का लेहाज़ रखें, इधर उधर घूमने फिरने से परहेज़
जुमा खुतबा घर से ही अदा करे , juma khutba in hindi

13. ज़रूरतमन्दों की खुसूसी ख़बरगीरी करें, रिश्तेदारों और पड़ोसियों और गैर मुसलिम परेशान हाल ज़रूरतमन्दों का तआवुन
करें.

14.जिस तरह आपने अब तक ज़रूरतमन्दों और परेशान हाल मुस्तहिक़ीन की अम्दाद की है माहे रमज़ानुल मुबारक में भी उनका
खयाल रखें.दीनी मदारिस, इदारों और तनज़ीमो को अपनी ज़कात,खैरात और अतियात में ज़रूर याद रखें.जुमा खुतबा हिंदी में 



15. अपने क़ीमती औक़ात ज़ाए करने की बजाए कुरआन पाक की तिलावत, ज़िक्र व अज़कार, तौबा व असतगफार और दरूद
शरीफ़का एहतमाम करें.

16. तिब्बी माहिरीन की जानिब से जारी की हिदायात के मुताबिक़ एहतियाती तदाबीर बिलखूसूस समाजी फासले (Social
Distancing) पर सख्ती से अमल करें. Juma khutba in hindi padhe

17.माहे रमज़ानुल मुबारक का एक अहम अमल ऐतेकाफ भी है जो सुन्ते किफाया है, इस लिए हर मुक़ाम पर आखरी अशरे में
हुकूमती क़वानीन की रिआयत करते हुए इसपर भी अमल कियजाए.

18.दूसरो की ज़रूरतों का खयाल करते हुएहस्बे इसतेताअत सदक़ावखैरात करें और मुस्तहिक़ीन को पहँचाए.



प्यारे इस्लामी भाई और बहनों अगर आप को ये पोस्ट पसंद आई तो please एक शेयर कर दीजिए जिससे हमें लगेंगा हमारी महेनत कामयाब हो रही है ।
Juma khutba in hindi , जुमा का खुतबा हिंदी में
अगर आप हमें donate करना चाहते है । तो हमने donation लिंक और Donate Button 👇👇नीचे दिए है । donate button पर click करके donate कर सकते है ।





2 comments:

  1. Assalamualaikum

    Allah aapko majid tarraki aata kare aapki mehnat ke liye

    Ham alvida ka or Eid ul first ka khutba talas kar rahe the hindi me agar mumkin ho aplod kare nawajis ho jajak Allah kher
    Allah hafiz

    ReplyDelete
    Replies
    1. https://www.dinyeislam.com/2020/05/eid-ul-fitr-eid-ul-adha-eid-ki-namaz-ka.html

      Delete

Thanks For Visiting Our Website Din ye islam